रविवार, 25 जनवरी 2009

पीछे मुड कर
देखना भी
ज़रूरी होता है
जब कहीं नज़र न आती हो
आगे जाने की राह॥



महफूज़ अली


Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

My page Visitors