शनिवार, 5 सितंबर 2009

मेरी रचनाएँ में लिखा लेख "बाबू" का प्रकाशन हिन्दी दैनिक अमर उजाला के सम्पादकीय पृष्ट में...



सर्वप्रथम मैं हिन्दी दैनिक अमर उजाला का आभारी हूँ की मेरे ब्लॉग लेख "आईये आज मैं आप लोगों को बताता हूँ की बाबू शब्द की उत्पत्ति कैसे हुयी?" को आज (दिनांक ०५/०९/'०९)अपने अखिल भारतीय सम्पादकीय पृष्ठ में प्रमुखता से प्रकाशित किया .........

-------------------------------------------------

मेरी इस सफलता का श्रेय सर्वप्रथम मैं आदरणीय मम्मी श्रीमती.रश्मि प्रभा जी को देता हूँ..... जिन्होंने मुझे हमेशा अच्छा लिखने की प्रेरणा दी..... उनके दुआओं का ही यह फल है......



मैं श्री समीर लाल जी (उड़न तश्तरी)...... श्री ॐ आर्य जी ...... श्री शरद कोकास जी...... श्री एम् एल वर्माजी .......... श्री शास्त्री जी मयंक जी........ श्री सलीम खान जी...... सीमा गुप्ता जी...... महक जी ....राजजी .... वंदनाजी ....काव्य मञ्जूषा जी .......उर्मिजी .......... रजिया जी..... पल्लवी त्रिवेदी जी...... रंजना भाटिया जी..... विक्रम जी........ दिगंबर नस्वा जी..... आशीष खंडेलवाल जी..... अनिल कान्त जी....... साधना जी.......संध्या जी...... अल्पना जी...... और हरकीरत जी का आभारी हूँ....... आप सब ने मुझे अच्छा मार्गदर्शन दिया...... और मेरे लिखे को सराहा ........ और हमेशा अच्छा लिखने को प्रेरित किया.......



-------------------------------------------

.
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

My page Visitors