गुरुवार, 20 अगस्त 2009

जब भी तुम्हें .......


कविता!!!!!!!!!!!


जब भी तुम्हे लिखता हूँ,

तुम किसी की कहानी बन जाती हो।

जब भी तुम्हें सुनता हूँ,

तुम किसी की ज़ुबानी बन जाती हो।

जब भी तुम्हें पढ़ता हूँ,

तुम किसी की यादें बन जाती हो।

जब भी तुम्हें याद करता हूँ,

तुम कविता बन जाती हो॥

13 टिप्पणियाँ:

mehek ने कहा…

मैं कोमल कुमुदनी सी दिख तो रही हूँ,
पवन बन जो आओ महक जाऊँगी मैं,



कभी भीगें नैना और बिखरे जो काजल,
मधुर हास देना ,बदल जाऊँगी मैं.

waah bahut sunder ehsaas.

M VERMA ने कहा…

याद करते रहिये -- हमे कविता तो मिलती रहेगी.
सुन्दर एहसास्

raj ने कहा…

जब भी तुम्हें याद करता हूँ,

तुम कविता बन जाती हो॥ boht khoobsurat...

Babli ने कहा…

वाह वाह क्या बात है! बहुत खूब! इस बेहतरीन रचना के लिए ढेर सारी बधाइयाँ!
मेरे नए ब्लॉग पर आपका स्वागत है -
http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com

M.A.Sharma "सेहर" ने कहा…

जब भी तुम्हें याद करता हूँ,
तुम कविता बन जाती हो॥

durust farmaya ..yade hee kavita kahani main dhal jati hain ...

रश्मि प्रभा... ने कहा…

bahut hi bhaw bheene ehsaas

ओम आर्य ने कहा…

सही है भाई आप याद करते रहो .....आपके जिन्दगी की कविताओ से हमे रुबरु करवाते रहो......और खुब्सूरत होते है दिल के एहसास .......जब बात दिल से निकलती है न तो दूर तलक जाती है ........अतिसुन्दर .....बहुत ही खुब

'अदा' ने कहा…

जब भी तुम्हे लिखता हूँ,
तुम किसी की कहानी बन जाती हो।
जब भी तुम्हें सुनता हूँ,
तुम किसी की ज़ुबानी बन जाती हो।
जब भी तुम्हें पढ़ता हूँ,
तुम किसी की यादें बन जाती हो।
जब भी तुम्हें याद करता हूँ,
तुम कविता बन जाती हो॥

दिल से कही गई सीधी-सच्ची बात..
मन को बहुत भायी !!!!

अर्चना तिवारी ने कहा…

वाह ! बहुत खूबसूरत

seema gupta ने कहा…

जब भी तुम्हें याद करता हूँ,


तुम कविता बन जाती हो॥
यादे ही तो कविता बनती और बनाती है......खुबसूरत पंक्तियाँ"

regards

gargi gupta ने कहा…

sach kaha hai aap ne
yahi to prem hai har jagha har taraf bas unhi ki anubhooti

संजय भास्कर ने कहा…

जब भी तुम्हें याद करता हूँ,


तुम कविता बन जाती हो॥
यादे ही तो कविता बनती और बनाती है......खुबसूरत पंक्तियाँ"

SANJAY BHASKAR

संजय भास्कर ने कहा…

बेहतरीन रचना के लिए ढेर सारी बधाइयाँ

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

My page Visitors