सोमवार, 3 अगस्त 2009

बस एक बार .........चली आओ.....


तुम्हारे साथ गुज़ारे हुए ,


उन लम्हों कि याद


आज फिर मुझे


आई है।


पल भी वही हैं,


नज़रें भी


और


नज़ारे भी वही हैं...


नहीं हैं अगर कोई


तो बस तुम..........


तुम्हें उन वादों ,


उन वफ़ाओं कि कसम


बस एक बार,


सिर्फ़ एक बार........


एक पल के लिए


चली आओ


उस पल में तमाम


उम्र जी लेंगे हम॥

महफूज़ अली


(मैं अपने तमाम पाठकों के e . mails और टिप्पनिओं का बहुत शुक्रगुजार हूँ , जो आप सबने मेरी प्रेम रस की कवितओं को सराहा... दरअसल प्रेम रस एक ऐसा विषय है जिसके लिए हमारी फीलिंग्स कभी कम नहीं होतीं..... और हम सब प्रेम के उस दौर से गुज़र चुके होते हैं ......... मैं दोबारा आप सबका शुक्रगुजार हूँ....... आगे भी मेरी प्रेम रस की कविताओं को ऐसे ही सराहते रहें .......... धन्यवाद.........)
04 /08/2009
21.17

19 टिप्पणियाँ:

M VERMA ने कहा…

बेहतरीन आह्वान

योगेन्द्र मौदगिल ने कहा…

भावात्मक अभिव्यक्ति..... वाह.. साधुवाद स्वीकारें..

Udan Tashtari ने कहा…

बेहतरीन भाव!!

raj ने कहा…

boht khoobsurat...wo jaroor aye...

shantanu ने कहा…

शानदार अभिवयक्ति. रूहानियत का एहसास ....आभार

संजीव गौतम ने कहा…

अच्छी रचना है. ख़ुदा 'महफ़ूज़' रक्खे हर बला से हर बला से.

mehek ने कहा…

waah bahutkhub,ek pal ki tho zindagi hai.

shama ने कहा…

Bahut sundar..!Kitnee saralta se ek sada nikli hai..!

Aapka link shefalee pande ji ke blog pe dee gayi tippanee se mila..

दिगम्बर नासवा ने कहा…

सच कहा दोस्त............ umr jeene के लिए एक lamhaa ही kaafi है............. lajawaab लिखा है

रश्मि प्रभा... ने कहा…

अवश्य आएँगी........इतनी प्यारी पुकार सुनकर

ओम आर्य ने कहा…

bahut hi sundar ......jawaab nahi hai har ek panktiyo ka...........atisundar

रज़िया "राज़" ने कहा…

वाह!क्या खुब अंदाज़े बयाँ है आपका।

उस पल में तमाम


उम्र जी लेंगे हम॥

अर्चना तिवारी ने कहा…

बहुत खूबसूरत रचना दिल को छू लेने वाली कोमल ...

चंदन कुमार झा ने कहा…

बहुत सुन्दर.

Babli ने कहा…

अत्यन्त सुंदर भाव और अभिव्यक्ति के साथ लिखी हुई आपकी ये रचना बहुत अच्छी लगी! तस्वीर भी बहुत सुंदर और प्यारी है!

rukhsar ने कहा…

apne kamaal kar diya hai.
pr ye bata dijiye ki ye kiske leye likhi hai?????

Harsh ने कहा…

bahut sundar .........

महफूज़ अली ने कहा…

aap sabke pyar ne mujhe phir ek prem ras ki kavita likhne ko majboor kar diya......

Dhanyawaad..... aap sabko....

Vijay Kumar Sappatti ने कहा…

jai ho jai ho


yaar us pal ki umr 100 baras ki hoti hai ,jab hamara mehboob hamare saath hota hai ...

badhai

vijay

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

My page Visitors